Sociology in Hindi| samajshastra| समाजशास्त्र

Sociology in Hindi

Sociology in Hindi/ samajshastra ka arth/सम्पूर्ण पाठ्यक्रम

Sociology in hindi; समाजशास्त्र अंग्रेजी के शब्द Sociology का हिन्दी अनुवाद है| Sociology दो शब्दों से मिलकर बना है|

1. Socius  2. Logus 

Socius लैटिन भाषा का शब्द है, जिसका अर्थ है- समाज

Logus ग्रीक भाषा का शब्द है, जिसका अर्थ है- विज्ञान

इस तरह समाजशास्त्र का शाब्दिक अर्थ समाज का विज्ञान है|

इस ब्लॉग पोस्ट में मैं समाजशास्त्र से सम्बंधित लगभग सभी टॉपिक पर लिखित सामग्री उपलब्ध करा रहा हूँ| यह बहुत ही सरल शब्दों में एवं समझने में आसान है| इसमें सभी concept एवं theories को स्पष्ट किया गया है| आइए हम लोग समाजशास्त्र के सम्पूर्ण पाठ्यक्रम को क्रमवार देखते हैं -

(I) समाजशास्त्र के तत्व

1. समाजशास्त्र का उद्भव

2. समाजशास्त्र का अर्थ एवं परिभाषा

3. समाजशास्त्र की प्रकृति

4. समाजशास्त्र का अध्ययन क्षेत्र  

5. समाजशास्त्र की विषय वस्तु

6. समाजशास्त्र का विकास

7. समाजशास्त्र का अन्य सामाजिक विज्ञानों से सम्बन्ध

8. समाजशास्त्र में अध्ययन पद्धति

7. समाज (मानव एवं पशु समाज)

8. व्यक्ति और समाज

9. समुदाय, समिति तथा संस्था

10. सामाजिक समूह

11. प्रस्थिति एवं भूमिका

12. सामाजिक स्तरीकरण एवं विभेदीकरण

(II) भारतीय समाज की संरचना

1. धर्म

2. पुरुषार्थ

3. आश्रम व्यवस्था

4. संस्कार

5. कर्म का सिद्धान्त

(III)  संस्कृति

1. संस्कृति की अवधारणा

2. भारतीय संस्कृति: विविधता में एकता

3. सांस्कृतिक विविधता: भाषा, नृजातीयता एवं जाति सम्बन्धी

4. क्षेत्रीय एवं धार्मिक विश्वास; व्यवहार एवं सांस्कृतिक प्रतिमान

(IV)  विवाह एवं परिवार

1. विवाह की अवधारणा

2. हिन्दू विवाह

3. भारत में मुस्लिम,जनजाति एवं ईसाई विवाह

4. परिवार की अवधारणा

5. संयुक्त परिवार

6. मुस्लिम, ईसाई एवं जनजातीय परिवार

(V)  सामाजिक परिवर्तन

1. सामाजिक परिवर्तन का तात्पर्य 

2. सामाजिक परिवर्तन से सम्बंधित विभिन्न अवधारणाएँ

3. सामाजिक परिवर्तन के कारक

4. सामाजिक परिवर्तन के सिद्धान्त

5. कार्ल मार्क्स का सामाजिक परिवर्तन का सिद्धान्त

6. कॉम्टे का त्रिस्तरीय सिद्धान्त

7. स्पेन्सर का उदविकासीय सिद्धान्त

8. मॉर्गन का सामाजिक परिवर्तन का सिद्धान्त

9. वेबलेन का सामाजिक परिवर्तन का सिद्धान्त

10. सोरोकिन का सामाजिक परिवर्तन का सिद्धान्त

11. स्पेंगलर, टॉयनबी का सामाजिक परिवर्तन का चक्रीय सिद्धान्त

12. ऑगबर्न का सांस्कृतिक विलम्बना का सिद्धान्त

13. पैरेटो का अभिजनों के परिभ्रमण का सिद्धान्त

14. माल्थस का जनसंख्या सम्बन्धी सिद्धान्त

15. सामाजिक एवं सांस्कृतिक परिवर्तन के अन्तर

(VI)  सामाजिक नियंत्रण

1. सामाजिक नियंत्रण की अवधारणा

2. सामाजिक नियंत्रण के साधन

3. सामाजिक नियंत्रण के अभिकरण

(VII)  समाजीकरण

1. समाजीकरण का अर्थ

2. समाजीकरण से सम्बंधित विभिन्न अवधारणाएँ

3. सामाजिक सीख तथा अनुकरण की प्रक्रिया

4. समाजीकरण के अभिकरण

5. समाजीकरण का सिद्धान्त

6. मीड का समाजीकरण का सिद्धान्त

7. फ्रायड का समाजीकरण का सिद्धान्त

8. दुर्खीम का समाजीकरण का सिद्धान्त

9. प्रतीकात्मक अंतःक्रियावाद

10. ब्लूमर का प्रतीकात्मक अंतःक्रियावाद

(VIII)  सामाजिक विघटन

1. सामाजिक विघटन की अवधारणा

2. वैयक्तिक विघटन

3. पारिवारिक विघटन

4. सांस्कृतिक विघटन

5. भारत में सामाजिक विघटन

(IX)  अपराध

1. अपराध की अवधारणा एवं प्रकार

2. अपराध के सिद्धान्त

(X)  सामाजिक अनुसन्धान

1. सामाजिक अनुसन्धान की अवधारणा

2. उपकल्पना

3. वैयक्तिक अध्ययन पद्धति

4. अवलोकन पद्धति

5. निदर्शन

(XI)  समाजशास्त्रीय विचारक

1.  अगस्त कॉम्टे

2.  हरबर्ट स्पेन्सर

3.  इमाईल दुर्खीम

(XII)  कमजोर वर्ग

1. जनजाति

2. दलित

3. अन्य पिछड़ा वर्ग

4. भारतीय समाज में महिलाएँ

5. भारत में अल्पसंख्यक

 (XIII)  समस्याएँ

1. भारत में नृजातीय समस्याएँ

2. भारत में धार्मिक समस्याएँ

3. भारत में क्षेत्रीय समस्याएँ

4. वृद्धों की समस्याएँ

5. लैंगिक असमानता

6. जाति असमानता

5. निर्धनता

6. दहेज़

7. तलाक

8. घरेलू हिंसा

9. आरक्षण

10. अन्तः एवं अंतर्पीढ़ीय संघर्ष

11. जातिवाद

12. क्षेत्रवाद

13. अल्पसंख्यक

14. साम्प्रदायिकता

15. युवा अति-सक्रियता

16. जनसंख्या की संरचना एवं सम्बंधित मुद्दे

1 thought on “Sociology in Hindi| samajshastra| समाजशास्त्र”

Leave a Reply

Your email address will not be published.